24 Bhagat Singh Quotes in Hindi | क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

By | June 28, 2018

bhagat singh quotes in hindi, in hindi, bhagat singh thoughts in hindi, bhagat singh in hindi, bhagat singh,

24 Bhagat Singh Quotes in Hindi | क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

“24 Bhagat Singh Quotes and Thoughts in Hindi | क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार” भगत सिंह को भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन के सबसे प्रभावशाली क्रांतिकारियों में से एक माना जाता है। चन्द्रशेखर आजाद व पार्टी के अन्य सदस्यों के साथ मिलकर इन्होंने देश की आज़ादी के लिए अभूतपूर्व साहस के साथ शक्तिशाली ब्रिटिश सरकार का मुक़ाबला किया। पहले लाहौर में साण्डर्स की हत्या और उसके बाद दिल्ली की केन्द्रीय संसद (सेण्ट्रल असेम्बली) में बम-विस्फोट करके ब्रिटिश साम्राज्य के विरुद्ध खुले विद्रोह को बुलन्दी प्रदान की। इन्होंने असेम्बली में बम फेंककर भी भागने से मना कर दिया। जिसके फलस्वरूप इन्हें 23 मार्च 1931 को इनके दो अन्य साथियों, राजगुरु तथा सुखदेव के साथ फाँसी पर लटका दिया गया। सारे देश ने उनके बलिदान को बड़ी गम्भीरता से याद किया। भगत सिंह को समाजवादी,वामपंथी और मार्क्सवादी विचारधारा में रुचि थी।

24 Bhagat Singh Quotes in Hindi | क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

Pablo Picasso Quotes and Thoughts in Hindi | पाब्लो पिकासो के उद्धरण और विचार</a

1. जीवन का उद्देश्य मन को नियंत्रित करने के लिए नहीं है, बल्कि इसे समान विकसित करना है; छुटकारा प्राप्त करने के लिए नहीं है, बल्कि इसका सबसे अच्छा उपयोग करने के लिए हैं।

2. व्यक्तियों को कुचल कर,वें विचारों को नही मार सकते हैं।

3. प्यार हमेशा आदमी के चरित्र को ऊपर उठाता है यह कभी उसे कम नहीं करता है, प्यार मुक्ति प्रदान करता है।

4. इंसान तभी कुछ करता है जब वो अपने काम के ओचित्य को लेकर सुनिश्चित होता है, जैसाकि हम विधान सभा में बम फेकने को लेकर थे।

5. राख का हर एक कण मेरी गर्मी से गतिमान है मैं एक ऐसा पागल हूँ जो जेल में भी आज़ाद है।

50 Famous Quotes and Thoughts of Confucius | कन्फ्यूशियस के 50 प्रसिद्ध उद्धरण

6. ज़रूरी नहीं था की क्रांति में अभिशप्त संघर्ष शामिल हो। यह बम और पिस्तौल का पंथ नहीं था।

क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

7. वे मुझे मार सकते हैं, लेकिन वे मेरे विचारों को नहीं मार सकते। वे मेरे शरीर को कुचल सकते हैं, लेकिन वे मेरी आत्मा को कुचलने में समर्थ नहीं होंगे।

8. किसी को क्रांति शब्द की व्याख्या शाब्दिक अर्थ में नहीं करनी चाहिए। जो लोग इस शब्द का उपयोग या दुरूपयोग करते हैं उनके फायदे के हिसाब से इसे अलग – अलग अर्थ और अभिप्राय दिए जाते है।

9. क्रांति मानव जाती का एक अपरिहार्य अधिकार है। स्वतंत्रता सभी का एक कभी न खत्म होने वाला जन्म-सिद्ध अधिकार है। श्रम समाज का वास्तविक निर्वाहक है।

10. प्रेमी, पागल, और कवी एक ही चीज के बने होते हैं।

क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

11. आम तौर पर लोग चीजें जैसी हैं उसके आदि हो जाते हैं और बदलाव के विचार से ही कांपने लगते हैं। हमें इसी निष्क्रियता की भावना को क्रांतिकारी भावना से बदलने की ज़रुरत है।

12. यदि बहरों को सुनना है तो आवाज़ को बहुत जोरदार होना होगा। जब हमने बम गिराया तो हमारा धेय्य किसी को मारना नहीं था। हमने अंग्रेजी हुकूमत पर बम गिराया था। अंग्रेजों को भारत छोड़ना चाहिए और आज़ाद करना चहिये।

13. जिंदगी को तो अपने दम पर ही जिया जाता है, दूसरों के कन्धों पर तो सिर्फ जनाजे उठाये जाते हैं।

14. जो व्यक्ति विकास के लिए खड़ा है उसे हर एक रूढ़िवादी चीज की आलोचना करनी होगी, उसमे अविश्वास करना होगा तथा उसे चुनौती देनी होगी।

15. मैं एक इंसान हूँ और मानव जाति से प्रभावित होने वाले सभी लोग मुझसे जुड़े हुए है।

क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

16. मैं इस बात पर जोर देता हूँ कि मैं महत्त्वाकांक्षा, आशा और जीवन के प्रति आकर्षण से भरा हुआ हूँ। पर मैं ज़रुरत पड़ने पर ये सब त्याग सकता हूँ, और वही सच्चा बलिदान है।

17. यदि आप मानते हैं कि एक सर्वशक्तिमान परमेश्वर है, जिसने पृथ्वी या ब्रह्मांड बनाया है, तो कृपया सबसे पहले मुझे बताएं, उसने इस दुनिया को क्यों बनाया? यह दुनिया जो दुःख से भरी है, जहां एक व्यक्ति भी शांति में नहीं रहता। कहाँ है भगवान? वह क्या कर रहा है? क्या वह ये सब देख कर खुश हो रहा है?

18. किसी भी कीमत पर बल का प्रयोग ना करना काल्पनिक आदर्श है और नया आन्दोलन जो देश में शुरू हुआ है, और जिसके आरम्भ की हम चेतावनी दे चुके हैं, वो गुरु गोबिंद सिंह और शिवाजी, कमाल पाशा और राजा खान, वांशिगटन और गैरीबाल्डी, लाफायेतटे और लेनिन के आदर्शो से प्रेरित हैं।

24 Bhagat Singh Quotes in Hindi | क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

19. कानून की पवित्रता तभी बनी रह सकती है जब तक की वो लोगों की इच्छा की अभिव्यक्ति करें।

20. अहिंसा को आत्म-बल के सिद्धांत का समर्थन प्राप्त है जिसमे अंतत: प्रतिद्वंदी पर जीत की आशा में कष्ट सहा जाता है। लेकिन तब क्या हो जब ये प्रयास अपना लक्ष्य प्राप्त करने में असफल हो जाएं? तभी हमें आत्म-बल को शारीरिक बल से जोड़ने की ज़रुरत पड़ती है, ताकि हम अत्याचारी और क्रूर दुश्मन के रहमोकरम पर निर्भर ना करें।

21. निष्ठुर आलोचना और स्वतंत्र विचार ये क्रांतिकारी सोच के दो अहम लक्षण हैं।

22. हमारे लिए, समझौता का मतलब कभी आत्मसमर्पण नहीं होता है, केवल एक कदम आगे और कुछ आराम बस इतना ही।

23. निर्दयी आलोचना और स्वतंत्र सोच क्रांतिकारी सोच के दो आवश्यक गुण होते है।

क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार

24. अपने व्यक्तित्व को पहले कुचल दें, निजी आराम के सपने से मुक्त हो जाएँ और फिर काम करना शुरू करें, इंच से इंच आपको आगे बढ़ना होगा। इसे साहस, तप और दृढ़ संकल्प की आवश्यकता है। कोई कठिनाई और कोइ विपत्ति आपकी हिम्मत नहीं तोड़ सकती । कोई विफलता और धोका आपको निराश नहीं करेगा। ये सब चीज़ें आपके अंदर की क्रन्तिकारी इच्छाशक्ति को खत्म कर सकती हैं लेकिन कष्टों और त्यागों की परीक्षा के माध्यम से आप जीत हासिल करेंगे। और ये जीत क्रांति की बहुमूल्य संपत्ति होगी। – भगत सिंहमहान आवश्यकता के समय, हिंसा अनिवार्य है।


अन्य महापुरुषों के विचार:-

  1. Most Inspiring Bruce Lee Quotes in Hindi | ब्रूस ली के सबसे अच्छे प्रेरक उद्धरण, विचार

हम उम्मीद करतें है की हमारे द्वारा लिखित “24 Bhagat Singh Quotes in Hindi | क्रांतिकारी भगत सिंह के 24 विचार” यह पोस्ट आपको पसन्द आई होंगी और अपने सुझावों अथवा प्रतिक्रिया को हम तक पहुचाने के लिए आप comment box का इस्तमाल कर सकते है और आप हमारे Facebook Page को Like भी कर सकते है। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *