What is Acrophobia? एक्रोफोबिया क्या है?

By | June 15, 2018

Acrophobia in hindi, fear of heights in hindi,

शायद आप वो व्यक्ति हो सकते हो जिसको ऊंचाई से डर (Acrophobia) लगता हैं, या फिर आप किसी ऐसे व्यक्ति को जानते हो जिसको ऊंचाई से डर लगता हैं, तो यह संक्षिप्त गाइड आपके लिए लिखा गया है। यहां पर हम ऊंचाई के डर के कारणों, लक्षणों और उपचार विकल्पों का अध्ययन करेंगे, ऊंचाई के डर को एक्रोफोबिया (Acrophobia) भी कहा जाता है।

What is Acrophobia? एक्रोफोबिया क्या है?

Please हमारें Facebook Page को Like करें।

जिस व्यक्ति को ऊचाई पर जाने से डर लगता है, तो फिर आप ये मान सकते हो कि उसको एक्रोफोबिया (Acrophobia) है, जो कि अत्यधिक और असामान्य होता है। इस डर से करीब 20 वयस्कों में से लगभग 1 वयस्क प्रभावित होता है। एक्रोफोबिया ग्रीक शब्द है जो “एक्रोन” और “फोबिया” दो शब्दों को जोड़कर बना है। “एक्रोन” का मतलब होता है उंचाई और “फोबिया” का मतलब होता है डर। ये एक असामान्य डर है। जिस व्यक्ति को यह डर होता है, वह व्यक्ति आमतौर पर लंबी इमारतों, फेरिस पहियों, रोलर कोस्टर, स्कीइंग या यहां तक कि ऊंची पहाड़ियों या बालकनी पर अपने डर के कारण खड़े होने से बचता हैं। वैसे तो वह बहुत से लोग ऊंचाई के डर से प्रभावित होते हैं, पर इसका स्तर अलग – अलग होता है, यानि की किसी को कम ऊँचाई से, तो किसी को अधिक ऊँचाई से डर लगता है। ये तब खतरनाक हो जाता है जब एक्रोफोबिया की वजह से व्यक्ति को उंचाई से पैनिक (घबराहट) हो जाता है, और नीचे उतरने के लिए उत्तेजित होता है ।

एक्रोफोबिया के लक्षण क्या हैं?

एक्रोफोबिया के द्वारा तीन मुख्य प्रतिक्रिया उत्पन्न होती हैं, और इनमें घबराहट, डर और उत्तेजित होना शामिल हैं। इसके साथ ही स्थिति के अनुसार व्यक्ति का व्यवहार उत्तेजात्मक, मांसपेशियों में तनाव, धड़कन का बढ़ना, पैनिक अटैक, सिर में दर्द, चक्कर आना और सुस्ती भी हो सकती है। अगर इस दौरान सांस लेने में दिक्कत, खुद पर नियंत्रण की कमी और यहाँ तक की मृत्यु का विचार भी आ सकता है।

Please हमारें Facebook Page को Like करें।

ऊंचाइयों के डर का कारण (Causes of fear of heights)

एक्रोफोबिया के लिए मनोचिकित्सक (Psychiatrists) मुख्य रूप से नकारात्मक सोच को दोषी ठहराते हैं। नकारात्मक विचारों में शामिल हैं:- (1.)अगर मैं किनारे पर खड़ा हूं, तो कोई मुझे धक्का देगा। (2.) मैं अपना संतुलन खो दूंगा। (3.) मुझे चक्कर आ जाएगा या दिल का दौरा पड़ सकता है और गिर सकता हूँ। और इसके साथ ही जो किसी दुसरें व्यक्ति को कभी उंचाई से गिरते या चोट खाते हुए देखा हो। इसके अलावा इसका कारण माता-पिता भी हो सकते हैं, उदारहण के तौर पर अगर अभिभावक को उंचाई से डर लगता है तो बच्चे को भी डर लग सकता है। या फिर कभी-कभी फिल्मों में काल्पनिक दृश्यों को देख कर भी कोई व्यक्ति इस डर से ग्रस्त हो सकता है।

एक्रोफोबिया के लिए उपचार (Treatment for Acrophobia)

इस दुनिया में लगभग हर मरज कि दवा है, और मैं मानता हूँ की शारीरिक बीमारी की अपेक्षा मानसिक बीमारी का इलाज करना ज्यादा मुश्किल होता है, और एक्रोफोबिया के लिए भी इलाज़ में वक्त लग सकता है इसलिए धैर्य से काम लें। इसमें दवाएं इंसान के दिमाग को शांत करने का काम करती हैं और चिंताजनक सोच से राहत दिलाने का काम करती हैं। एक्रोफोबिया के डर को दूर करने के लिए जरूरी है की आप खुद से commitment करें। और ध्यान लगाए, साकारात्मक सोचे ये इस तरह की तकनीकें आपके जर को दूर करने में सहायक हो सकती है।

और इनके साथ ही आप अपने Acrophobia पर काबू पाने के लिए रियालटी थैरपी और कॉगनेटिव यानि संज्ञानात्मक थैरपी की भी मदद ले सकते हो।
(1.)रियालटी थैरपी- इसमें व्यक्ति को तार्किक तौर पर इलाज दिया जाता है। इसमें उनकी मदद की जाती है कि वो अपने व्यवहार और डर को लेकर असलियत को जानें। इसमें खुद पर कैसे नियंत्रण रखना है इन सारी तकनीक के बारे में बताया जाता है।
(2.) कॉगनिटेव बेहेवियर थैरपी- इसमें व्यक्ति को सामाजिक तौर पर सलाह दी जाती है। इसमें सोच और भावना से ज्यादा व्यवहार पर ध्यान दिया जाता है।


Must Read:-

  1. All Phobias list more than 100 | अभी अपना डर का नाम जाने
  2. What is Love Phobia (Fear) in hindi? | लव फोबिया क्या है | इश्क से डर

हम उम्मीद करतें है की हमारे द्वारा लिखित यह पोस्ट आपको पसन्द आई होंगी और अपने सुझावों अथवा प्रतिक्रिया को हम तक पहुचाने के लिए आप comment box का इस्तमाल कर सकते है और आप हमारे Facebook Page को Like भी कर सकते है। इस पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें, धन्यवाद।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *